टीम इंडिया की बढ़ी मुसीबत, वर्ल्ड कप में खेल सकेंगे अजमल

वर्ल्ड कप का महामुकाबला शुरू होने में अब महज 8 दिन शेष रह गए हैं और क्रिकेट के मैदान पर सबसे बड़े प्रतिद्वंद्वी भारत और पाकिस्तान अपनी-अपनी तैयारियों में जुटे हैं। दोनों एक-दूसरे के खिलाफ मैदान पर उतर कर अपने वर्ल्ड कप अभियान की शुरुआत करेंगे।

दोनों ही टीमों को वर्ल्ड कप से पहले हार का सामना करना पड़ा है। साथ ही दोनों टीमें अपने बड़े खिलाड़ियों के चोटिल होने से खासी परेशान हैं। पाकिस्‍तान का टेंशन कुछ ज्यादा ही था क्योंकि उसके पास वर्ल्ड नंबर वन गेंदबाज सईद अजमल था लेकिन उनको पिछले संदिग्‍ध गेंदबाजी एक्‍शन के कारण अंतरराष्ट्रीय मैचों में गेंदबाजी करने से प्रतिबंधित कर दिया गया। अजमल और पाक टीम दोनों ही चाहते थे कि इस चतुर गेंदबाज की टीम वापसी हो जाए।

हालांकि अब आईसीसी ने अजमल की सुधरी हुई गेंदबाजी एक्‍शन का फिर से टेस्ट लेकर उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी करने की अनुमति दे दी है। आईसीसी ने न सिर्फ अजमल को ब‌ल्कि बांग्लादेश के प्रतिबंधित गेंदबाज सोहाग गाजी की नई गेंदबाजी एक्‍शन को सही मान लिया है और इसके साथ ही इस गेंदबाज के भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लौटने का रास्ता साफ हो गया है।

वर्ल्ड कप से ऐन पहले अजमल की वापसी से टीम इंडिया दबाव में आ सकती है। दूसरी ओर पाक के लिए यह बड़ी खबर है क्योंकि अजमल न सिर्फ पाक के बल्कि दुनिया के शीर्ष गेंदबाज हैं। उनकी वापसी से टीम का मनोबल जरूर बढ़ेगा।

पाकिस्तान के फिरकी गेंदबाज सईद अजमल का टेस्‍ट 24 जनवरी को चेन्‍नई ‌स्थित सेंटर पर लिया गया था और इसके बाद उन्हें आईसीसी की ओर से आयोजित एक पूर्ण टेस्ट में भाग लेने को कहा गया। टेस्ट देने के बाद अजमल ने कहा, “पहले मैं अपने शरीर के पीछे से गेंदबाजी करता था लेकिन अब इसमें काफी बदलाव किया है।”

अजमल की गेंदबाजी एक्‍शन में सुधार के लिए पाक के पूर्व टेस्ट गेंदबाज सकलैन मुश्ताक ने काफी काम किया था। अजमल ने मुश्ताक के सहयोग पर कहा, “सकलैन ने मुझे काफी प्रोत्साहित किया और अपने गेंदबाजी एक्‍शन में बदलाव लाने के लिए काफी उत्साह बढ़ाया। मैं रोजाना 3 घंटे नेट पर एक्‍शन में सुधार के लिए ‍गेंदबाजी करता था। मैंने नई गेंदबाजी एक्‍शन हासिल करने के लिए नेट पर करीब 12 हजार गेंदें डाली। साथ ही कुछ घरेलू मैच भी खेला।”

38 साल के अजमल पर पिछले साल सितंबर पर उनकी संदिग्‍ध गेंदबाजी एक्‍शन के कारण अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी करने से प्रतिबंध लगा दिया था, हालांकि आईसीसी ने उन्हें नई गेंदबाजी एक्‍शन के साथ क्रिकेट में वापसी का मौका जरूर दिया था।

बांग्लादेश के सोहाग गाजी पर पिछले साल अगस्त में वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच के दौरान उनकी गेंदबाजी एक्‍शन संदिग्‍ध पाए जाने के बाद बैन ‌लगा दिया गया था। बाद में उन्होंने कार्डिफ में अपना टेस्ट दिया।

Facebook Comments
324 Total Views 3 Views Today

Abhishek Mourya

ज़िंदगी का हिस्सा है लिखना, सुकून मिलता है. कभी पन्नों पर कभी चेहरों पर, जो पढ़ता हूं लिख देता हूं. अपना काम बस कलम से कमाल करने का हैं

Leave a Reply