पुणे के छात्रों द्वारा बनाई गई सैटेलाइट ‘स्वयम’ लॉन्च करेगा ISRO

पुणे के इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों ने एक पिको-सेटेलाइट ‘स्वयम’ विकसित किया है, जिसे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) बहुत जल्द अंतरिक्ष में लॉन्च करेगा। इस सेटेलाइट का निर्माण द्विदिश संचार प्लेटफार्म के तौर पर किया गया है, जो अंतरिक्ष में 500-800 किलोमीटर की ऊंचाई पर रहकर पृथ्वी की परिक्रमा करेगा।

इस सेटेलाइट का अंतिम परीक्षण पूरा हो गया है। कुछ ही महीनों में इसे लॉन्च कर दिया जाएगा।


Pune - Engineering students made 1st light weight Satellite Swayam, ISRO will lunch soon


Pune - Engineering students made 1st light weight Satellite Swayam, ISRO will lunch soon


कॉलेज की वेबसाइट के अनुसार, स्वयम नाम के इस प्रोजेक्ट को छात्रों की 40 सदस्यों की टीम ने मिलकर तैयार किया है। इस प्रोजेक्ट को कॉलेज के फैकल्टी मेंबर्स की देखरेख में बनाया गया है।

इस प्रोजेक्ट को लेकर कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर का कहना है:

“हमने हाल ही में ISRO का दौरा किया और इस प्रोजेक्ट से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण परीक्षण किए। इस परियोजना की महत्वपूर्ण डिजाइन की समीक्षा पूरी हो चुकी है। हमारी तरफ से यह प्रोजेक्ट पूरा हो चुका है।”


Pune - Engineering students made 1st light weight Satellite Swayam, ISRO will lunch soon


Pune - Engineering students made 1st light weight Satellite Swayam, ISRO will lunch soon


करीब एक किलो वजनी इस सेटेलाइट का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में दूरसंचार की व्यवस्था को सुधारना है। इसकी ख़ास विशेषता है कि इसमें एट्टीट्यूड कंट्रोल सिस्टम है, जो सेटेलाइट के ऊर्जस्वी गतिविधियों को नियंत्रित करता है।

इस प्रोजेक्ट से जुड़ी एक छात्रा का कहना हैः

“इस सेटेलाइट का वजन करीबन एक किलो है। इस प्रोजेक्ट पर काम करते हुए हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती थी सारे कंपोनेन्ट्स को एक छोटे से क्यूब के आकार के बॉक्स में फिट करना, लेकिन हम खुश हैं कि हमारी टीम ने इस काम को बखूबी तरीके से पूरा किया।”


Pune - Engineering students made 1st light weight Satellite Swayam, ISRO will lunch soon


Pune - Engineering students made 1st light weight Satellite Swayam, ISRO will lunch soon


वहीं कुछ रिपोर्ट्स का कहना है कि कॉलेज परिसर के अंदर ही ग्राउंड स्टेशन स्थापित किया गया है। जहां से इस सेटेलाइट से संपर्क बनाया जाएगा।

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे ==> http://www.coep.org.in/csat/



Facebook Comments
1550 Total Views 2 Views Today

Abhishek Mourya

ज़िंदगी का हिस्सा है लिखना, सुकून मिलता है. कभी पन्नों पर कभी चेहरों पर, जो पढ़ता हूं लिख देता हूं. अपना काम बस कलम से कमाल करने का हैं