Recipes – विटामिन से भरपूर है ‘मसूर की दाल’ जानिए कैसे बनाएं

मसूर का प्रयोग दाल के रूप में प्रायः समस्त भारतवर्ष में किया जाता है। इससे सभी अच्छी तरह परिचित हैं। समस्त भारत में मुख्यतः शीत जलवायु वाले क्षेत्रों में, तक उष्णकटिबंधीय एवं शीतोष्णकटिबन्धीय 1800 मीटर ऊंचाई तक इसकी खेती की जाती है।

इसके बीज में कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयरन, सोडियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम, सल्फर, क्लोरीन, आयोडीन, एल्युमीनियम, कॉपर, जिंक, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट एवं विटामिन आदि तत्व पाये जाते हैं। मसूर की दाल को जलाकर,उसकी भस्म बना लें। इस भस्म को दांतों पर रगड़ने से दाँतो के सभी रोग दूर होते हैं। मसूर के आटे में घी तथा दूध मिलाकर,सात दिन तक चेहरे पर लेप करने से झाइयां खत्म होती हैं। मसूर के पत्तों का काढ़ा बनाकर गरारा करने से गले की सूजन तथा दर्द में लाभ होता है। मसूर की दाल का सूप बनाकर पीने से ऑंतों से सम्बंधित रोगों में लाभ होता है। मसूर की भस्म बनाकर,भस्म में भैंस का दूध मिलाकर प्रातः सांय घाव पर लगाने से घाव जल्दी भर जाता है। मसूर दाल के सेवन से रक्त की वृध्दि होती है तथा दौर्बल्य का शमन होता है। मसूर की दाल खाने से पाचनक्रिया ठीक होकर पेट के सारे रोग दूर हो जाते हैं।


सामग्री- काली उरद दाल या काली मसूर दाल- 1 कप

चना दाल- 1/4 कप

जीरा- 1 चम्‍मच

हरी मिर्च- 2

बारीक कटी अदरक लहसुन पेस्‍ट- 1 चम्‍मच

हल्‍दी पावडर- 1 चम्‍मच

जीरा- 1 चम्‍मच

धनिया पावडर- 1 चम्‍मच

प्‍याज- 1

बारीक कटी कसूरी मेथी- 1 चम्‍मच

लौंग- 3

दालचीनी- 2

तेज पत्‍ता- 1

बटर- 2 चम्‍मच

दही- 1/2 कप

टमैटो प्‍यूरी- 1/2 कप

नमक- स्‍वादअनुसार

मलाई- 2 चम्‍मच

कटी हरी धनिया – 2 चम्‍मच

विधि-

१. उरद और चना दाल को पानी से धो कर प्रेशर कुकर में 2 कप पानी, नमक और हल्‍दी पावडर डाल कर 4 सीटी आने तक पका लीजिये।

एक बार हो जाने के बाद इसे एक कटोरे में निकालें।

फिर दाल में दही मिला कर अच्‍छी तरह से मिक्‍स कर लें।

अब पैन में दो चम्‍मच बटर डालें, गरम करें,

फिर जीरा, दालचीनी, लौंग, तेज पत्‍ता डाल कर कुछ सेकेंड पकाएं।

फिर कटी हुई प्‍याज डाल कर मध्‍यम आंच पर फ्राई करें।

उसके बाद इसमें टमाटर की प्‍यूरी डालें।

5 मिनट तक पकाने के बाद इसमें पकी हुई दाल डालें और कसूरी मेथी कूंच कर डालें।

अब इसे धीमी आंच पर पकाएं।

एक बार जब दाल गाढ़ी हो जाए तब आंच को बंद कर दें और हरी धनिया तथा क्रीम डाल कर गार्निश करें।

अब इसे चावल के साथ सर्व करें।

Facebook Comments
603 Total Views 1 Views Today

Related Post

Abhishek Mourya

ज़िंदगी का हिस्सा है लिखना, सुकून मिलता है. कभी पन्नों पर कभी चेहरों पर, जो पढ़ता हूं लिख देता हूं. अपना काम बस कलम से कमाल करने का हैं