कभी बदसूरत कहकर ताना मारते थे लोग, भारतीय महिला ने बनाई ऐसी बॉडी

पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अक्सर कमजोर माना जाता है। लोगों को यकीन होता है कि जो काम पुरुष कर सकते हैं, उसे महिलाएं नहीं कर सकती हैं। लेकिन उत्तरप्रदेश की रहने वाली 36 वर्षीय बॉडी बिल्डर यास्मीन चौहान मनक को देखकर लोगों की सोच बदल सकती है। हाल ही में उन्होंने इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ बॉडी बिल्डिंग द्वारा आयोजित इवेंट में मिस इंडिया 2016 का खिताब जीता है। कभी लोग कहते थे बदसूरत…

फिलहाल अपने पति के साथ गुड़गांव में रहने वाली यास्मीन बताती हैं कि मैं बचपन से काफी पतली थी। वजन बढ़ाने के लिए इलाज भी कराया, लेकिन कुछ फायदा नहीं हुआ। लोग मुझे बदसूरत कहते थे, लेकिन मुझे उनकी बातों का बुरा नहीं लगता, क्योंकि मैं भी खुद को बदसूरत ही मानती थी। लेकिन मुझे इस बात का यकीन था कि मैं एक दिन खूबसूरत दिखने लगूंगी, कैसे ये नहीं पता था।


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


जिम जाने के बाद बदली किस्मत

यास्मीन ने कहा कि मैं स्कूल से पासआउट होने के बाद कॉलेज पहुंची, तब मैंने जिम जाने का निर्णय लिया। उस वक्त मैं 17 साल की थी। हालांकि, तब लड़कियों के लिए जिम जाना काफी मुश्किल था, लेकिन मेरे फैमिली मेंबर्स ने सपोर्ट किया और मैं रोजाना जिम जाने लगी। इस दौरान कई लोग मुझे डिस्करेज भी करते थे, लेकिन मैंने कभी उनकी बातों पर ध्यान नहीं दिया। जिम जाने की वजह से न सिर्फ मेरा कॉन्फिडेंस लौटा, बल्कि मैं खूबसूरत और अट्रैक्टिव भी दिखने लगी।


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


खोल लिया खुद का जिम

यास्मीन ने गुड़गांव में अपना एक जिम भी खोला है, जिसमें 300 लोग आते हैं। वे कहती हैं कि पहली बार कोई जिम ज्वॉइन करने आता है तो वह मेरे बारे में जानकर हैरान हो जाता है। उसका पहला सवाल यहीं होता है कि एक लड़की होकर जिम ट्रेनर? उन्हें मुझ पर विश्वास नहीं होता। लेकिन मैं उन्हें बताती हूं कि अगर जिम में लड़कियों को कोई मर्द ट्रेंड कर सकता है तो लड़कों को कोई महिला क्यों नहीं ट्रेंड कर सकती है।


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


बुलेट चलाने का शौक

यास्मीन को पावर लिफ्टिंग के अलावा बुलेट चलाना बेहद पसंद है। वे कहती हैं कि मैं जब गोवा गई थी, तब पहली बार बुलेट चलाया था। मुझे काफी मजा आया, इसके बाद से मैं बुलेट की फैन हो गई। यास्मीन खुद को मेहनती, मजबूत और फोकस्ड वुमेन मानती हैं। वे कहती हैं कि अगर मैंने अपने लिए कोई गोल डिसाइड कर लिया तो मुझे उसे पाने से कोई भी नहीं रोक सकता है।


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder


Yashmeen Manak Who Defied All Odds To Become A Bodybuilder



Facebook Comments
576 Total Views 1 Views Today

Related Post

Leave a Reply